Home Health ध्यानपूर्ण खान-पान और योग: स्वस्थ हृदय के लिए आहार युक्तियाँ, व्यायाम

ध्यानपूर्ण खान-पान और योग: स्वस्थ हृदय के लिए आहार युक्तियाँ, व्यायाम

19
0


द्वाराज़राफशां शिराजनई दिल्ली

आज की तेज़-तर्रार दुनिया में, बनाए रखना दिल-स्वस्थ जीवन शैली यह एक चुनौती हो सकती है क्योंकि तनाव, खराब आहार विकल्प और शारीरिक गतिविधि की कमी अक्सर हमारे हृदय स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है। हालाँकि, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि दो सरल लेकिन शक्तिशाली प्रथाओं- ध्यानपूर्वक भोजन करना और के संयोजन से योग—स्वस्थ हृदय को समर्थन देने के लिए आप एक समग्र दृष्टिकोण अपना सकते हैं।

ध्यानपूर्वक भोजन करना और योग: स्वस्थ हृदय को सहारा देने के लिए आहार युक्तियाँ, व्यायाम (फोटो अनस्प्लैश पर टोआ हेफ्टीबा द्वारा)

हृदय स्वास्थ्य के महत्व को समझना

एचटी लाइफस्टाइल के साथ एक साक्षात्कार में, अक्षर योग केंद्र के संस्थापक, हिमालयन सिद्ध अक्षर ने साझा किया, “इससे पहले कि हम ध्यानपूर्वक खाने और योग के बारे में सोचें, यह पहचानना आवश्यक है कि हृदय स्वास्थ्य क्यों महत्वपूर्ण है। आपका हृदय एक मेहनती मांसपेशी है जो आपके पूरे शरीर में रक्त और ऑक्सीजन पंप करता है। यह आपको जीवित और स्वस्थ रखने के लिए जिम्मेदार है। हालाँकि, कई कारक, जैसे कि खराब आहार, गतिहीन जीवन शैली और तनाव, आपके दिल को खतरे में डाल सकते हैं।

माइंडफुल ईटिंग: यह क्या है?

हिमालयन सिद्ध अक्षर ने खुलासा किया, “माइंडफुल ईटिंग एक अभ्यास है जो आपको खाने के अनुभव पर पूरा ध्यान देने, प्रत्येक काटने का स्वाद लेने और उस पल में पूरी तरह से मौजूद रहने के लिए प्रोत्साहित करता है। यह आप जो खाते हैं उससे कहीं अधिक के बारे में है; यह इस बारे में है कि आप कैसे खाते हैं।” उनके अनुसार, यहां बताया गया है कि कैसे सावधानीपूर्वक भोजन करने से आपके दिल को फायदा हो सकता है –

  • आंशिक नियंत्रण: ध्यानपूर्वक खाने से आपको हिस्से के आकार के बारे में अधिक जागरूक होने में मदद मिलती है, जिससे अधिक खाने का खतरा कम हो जाता है, जिससे वजन बढ़ सकता है और दिल की समस्याएं हो सकती हैं।
  • बेहतर भोजन विकल्प: जब आप भोजन करते समय उपस्थित होते हैं, तो प्रसंस्कृत और उच्च वसा वाले विकल्पों की तुलना में फल, सब्जियां, साबुत अनाज और दुबले प्रोटीन जैसे हृदय-स्वस्थ खाद्य पदार्थों को चुनने की अधिक संभावना होती है।
  • खाने से तनाव कम होता है: ध्यानपूर्वक भोजन करने से आपको तनाव-संबंधी खान-पान के चक्र को तोड़ने में मदद मिल सकती है, जो अक्सर अस्वास्थ्यकर विकल्पों की ओर ले जाता है।
  • बेहतर पाचन: मन लगाकर खाने से पाचन में सहायता मिल सकती है, जिससे अधिक खाने या बहुत जल्दी खाने से होने वाली परेशानी कम हो सकती है।

माइंडफुल ईटिंग का अभ्यास कैसे करें

हिमालयन सिद्ध अक्षर ने ध्यानपूर्वक खाने का अभ्यास करने के लिए एक सरल मार्गदर्शिका सुझाई –

  1. विराम: इससे पहले कि आप खाना शुरू करें, कुछ देर रुकें। अपने सामने रखे भोजन को स्वीकार करें और उसके लिए आभार व्यक्त करें।
  2. अपनी इंद्रियों को व्यस्त रखें: जब आप भोजन करें तो अपने भोजन के रंग, बनावट और सुगंध पर ध्यान दें। स्वादों पर ध्यान देते हुए और वे आपको कैसा महसूस कराते हैं, प्रत्येक टुकड़े का स्वाद लें।
  3. धीरे-धीरे चबाएं: अपने भोजन को धीरे-धीरे और अच्छी तरह चबाएं। यह न केवल पाचन में सहायता करता है बल्कि आपको अपने भोजन के स्वाद और बनावट का पूरा आनंद लेने की अनुमति भी देता है।
  4. उपकरण नीचे रखें: भोजन करते समय टेलीविजन या स्मार्टफोन जैसी विकर्षणों से बचें। केवल अपने भोजन और खाने की क्रिया पर ध्यान दें।
  5. अपने शरीर की सुनें: भूख और परिपूर्णता के संकेतों पर ध्यान दें। जब आप संतुष्ट हों तब खाना बंद करें, न कि तब जब आपकी थाली खाली हो।

हृदय स्वास्थ्य के लिए योगासन

हिमालयन सिद्ध अक्षर ने कुछ सरल योग आसन सुझाए हैं जो आपके हृदय को लाभ पहुंचा सकते हैं –

  1. पर्वतीय मुद्रा (ताड़ासन): अपने पैरों को एक साथ जोड़कर, कंधों को आराम से और हथेलियों को आगे की ओर रखते हुए सीधे खड़े हो जाएं। यह मुद्रा अच्छी मुद्रा और शरीर की जागरूकता को बढ़ावा देती है।
  2. ब्रिज पोज़ (सेतु बंधासन): अपने घुटनों को मोड़कर और पैरों को कूल्हे की चौड़ाई से अलग रखते हुए अपनी पीठ के बल लेटें। अपने कूल्हों को छत की ओर उठाएं। यह आसन पीठ को मजबूत बनाता है और छाती को खोलता है।
  3. बच्चे की मुद्रा (बालासन): फर्श पर घुटने टेकें, अपनी एड़ियों के बल बैठें और अपनी भुजाओं को आगे की ओर फैलाएँ। यह आरामदायक मुद्रा तनाव को कम कर सकती है और मन को शांत कर सकती है।
  4. शव मुद्रा (सवासना): अपनी पीठ के बल लेटें, अपनी भुजाएँ बगल में रखें और अपने पैरों को थोड़ा अलग रखें। अपनी आंखें बंद करें और अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें। विश्राम और तनाव कम करने के लिए शवासन उत्कृष्ट है।

ध्यानपूर्वक खान-पान और योग के संयोजन से हृदय-स्वस्थ जीवनशैली प्राप्त की जा सकती है। ये सरल लेकिन शक्तिशाली अभ्यास बेहतर भोजन विकल्प, तनाव में कमी, रक्त परिसंचरण में सुधार और समग्र फिटनेस में वृद्धि को बढ़ावा देते हैं। हृदय स्वास्थ्य के लिए समग्र दृष्टिकोण अपनाकर, आप स्वस्थ हृदय और खुशहाल, स्वस्थ जीवन बनाए रखने की दिशा में सक्रिय कदम उठा सकते हैं।

“रोमांचक समाचार! हिंदुस्तान टाइम्स अब व्हाट्सएप चैनल पर है लिंक पर क्लिक करके आज ही सदस्यता लें और नवीनतम समाचारों से अपडेट रहें!” यहाँ क्लिक करें!

(टैग्सटूट्रांसलेट)हृदय-स्वस्थ जीवनशैली(टी)तनाव(टी)खराब आहार विकल्प(टी)शारीरिक गतिविधि की कमी(टी)मन लगाकर खाना(टी)योग



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here