Home Education यूपीएससी साक्षात्कार दौर में सफलता की संभावना बढ़ाने में आपकी मदद करने...

यूपीएससी साक्षात्कार दौर में सफलता की संभावना बढ़ाने में आपकी मदद करने के लिए 10 महत्वपूर्ण युक्तियाँ

17
0


यूपीएससी साक्षात्कार दौर, जिसे व्यक्तित्व परीक्षण के रूप में भी जाना जाता है, सिविल सेवा परीक्षा में एक महत्वपूर्ण चरण है। यह अंतिम सीमा है, जहां आपके व्यक्तित्व, ज्ञान और निर्णय लेने की क्षमताओं का मूल्यांकन किया जाता है।

यूपीएससी साक्षात्कार दौर सिर्फ ज्ञान की परीक्षा नहीं बल्कि चरित्र की परीक्षा है।

इस चरण में सफल होने में आपकी मदद करने के लिए, यहां दस आवश्यक युक्तियां दी गई हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आप यूपीएससी साक्षात्कार के दौरान एक स्थायी प्रभाव छोड़ सकें।

  • बैठने की सही मुद्रा बनाए रखें

साक्षात्कार के दौरान आप कैसे पेश आते हैं, इसमें आपकी मुद्रा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। कुर्सी के पीछे बैठें और आपकी पीठ की आखिरी हड्डी कुर्सी के कोने को छूती रहे। यह आसन उचित ऑक्सीजन प्रवाह की अनुमति देता है, जिससे आपको अधिक आत्मविश्वास और ज़ोर से सवालों के जवाब देने में मदद मिलती है।

  • अपनी शारीरिक भाषा पर ध्यान दें

किसी विषय को समझाते समय घबराने और हवा में हाथ लहराने से बचें। सीट लेते समय अपनी टाई को एक हाथ से पकड़ें और अपनी टाई को टेबल टॉप को छूने से रोकें। पूरे साक्षात्कार के दौरान शांत और संयत आचरण बनाए रखें।

  • प्रवेश करने और जाने के लिए उचित शिष्टाचार का पालन करें

साक्षात्कार कक्ष में प्रवेश करते समय अध्यक्ष से अनुमति मांगें, पैनल प्रमुख का अभिवादन करें और बैठने की अनुमति मांगें।

सुनिश्चित करें कि आप जाते समय प्रत्येक सदस्य को व्यक्तिगत रूप से धन्यवाद दें। अपने हाथों को मेज से दूर रखें और अपनी कलाई घड़ी या सहायक उपकरण के साथ खिलवाड़ करने से बचें।

उचित पोशाक पहनना महत्वपूर्ण है। पुरुषों के लिए, बटन वाले कॉलर वाली टाई पहनें और यदि आप ब्लेज़र पहनना चुनते हैं, तो बैठते समय उसके बटन खोल लें और खड़े होते समय उसके बटन लगा दें।

सिलवटों और असुविधा से बचने के लिए महिलाओं को अपनी साड़ी-पल्लू या ड्रेस-दुपट्टे का ध्यान रखना चाहिए। धार्मिक वस्तुओं को हटा दें और चेक या लिनेन शर्ट से बचें।

  • प्रश्नों के विनम्र उत्तर

प्रश्नों का उत्तर देते समय विनम्र और नम्र स्वर बनाए रखें। केवल “नहीं, सर” कहने के बजाय, “मैं अलग होना चाहता हूं, सर,” या “मुझे विश्वास है कि xyz” जैसे वाक्यांशों पर विचार करें। यह आपके वरिष्ठों के प्रति विनम्रता और सम्मान को दर्शाता है।

यदि आपको अपने विचार एकत्र करने के लिए एक क्षण की आवश्यकता है, तो विनम्रतापूर्वक इसके लिए अनुरोध करें। “बस एक सेकंड” या “मुझे इस पर अपने विचार एकत्र करने के लिए थोड़ा समय चाहिए, श्रीमान” जैसे वाक्यांश उपयुक्त हैं।

“मैं ठीक से नहीं जानता, लेकिन मुझे लगता है…” जैसे वाक्यांशों को दोहराने या कठबोली शब्दों का उपयोग करने से बचें। अनावश्यक दोहराव से बचने के लिए आत्मविश्वास से और सीधे बोलें।

उत्तर देने के बाद अचानक न रुकें। तब तक बोलते रहें जब तक आपसे अनुवर्ती प्रश्न न पूछा जाए या आपको विश्वास न हो जाए कि आपने विषय को पर्याप्त रूप से संबोधित कर लिया है।

ऐसे बोझिल प्रश्नों से बचें जो आपको नकारात्मक या पक्षपातपूर्ण बयान देने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। संवेदनशील मुद्दों पर चर्चा करते समय भी अपनी प्रतिक्रिया में संयमित और कूटनीतिक रहें।

  • अपने शौक और रुचियों के प्रति सचेत रहें

अपना विस्तृत आवेदन पत्र (डीएएफ) भरते समय, अपने द्वारा उल्लिखित शौक और रुचि के क्षेत्रों के बारे में चयनात्मक रहें। बहुत अधिक सूची न बनाएं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि साक्षात्कार के दौरान पूछे गए प्रश्न अधिक केंद्रित हों।

अंत में, यूपीएससी साक्षात्कार दौर केवल ज्ञान की परीक्षा नहीं है बल्कि चरित्र की परीक्षा है। आपका आचरण, मुद्रा और प्रतिक्रियाएँ साक्षात्कार पैनल पर सकारात्मक प्रभाव डालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

इन दस युक्तियों का पालन करके आप सिविल सेवा परीक्षा के इस अंतिम चरण में सफलता की संभावना बढ़ा सकते हैं। याद रखें, यूपीएससी साक्षात्कार के दौरान आत्मविश्वास, विनम्रता और संयम आपकी सबसे बड़ी संपत्ति हैं।

आपकी तैयारी के लिए शुभकामनाएँ!

(अनएकेडमी में यूपीएससी के उपाध्यक्ष मृणाल पटेल द्वारा लिखित। यहां व्यक्त विचार व्यक्तिगत हैं)

“रोमांचक समाचार! हिंदुस्तान टाइम्स अब व्हाट्सएप चैनल पर है लिंक पर क्लिक करके आज ही सदस्यता लें और नवीनतम समाचारों से अपडेट रहें!” यहाँ क्लिक करें!

(टैग्सटूट्रांसलेट)यूपीएससी(टी)सीएसई(टी)सिविल सेवा परीक्षा(टी)पर्सनैलिटी टेस्ट(टी)इंटरव्यू राउंड(टी)आत्मविश्वास



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here